शुरू करें क्या Shuru Karein Kya Lyrics In Hindi – Article 15

शुरू करें क्या Shuru Karein Kya Lyrics In Hindi Sung by SlowCheeta, Dee MC, Kaam Bhaari, Spitfire. Shuru Karein Kya Lyrics In English is written by SlowCheeta, Dee MC, Kaam Bhaari, Spitfire.

Song Details

Song Title Shuru Karein Kya
Movie Article 15
Singer SlowCheeta, Dee MC, Kaam Bhaari, Spitfire
Lyrics SlowCheeta, Dee MC, Kaam Bhaari, Spitfire
Composer Guri
Music Label Zee Music

START

Shuru Karein Kya Lyrics In Hindi

बातें बहुत हुईं
काम शुरू करें क्या
कल क्या करेगा
आज शुरू करें क्या
ये देश अपने हाथ
कुछ बातों से होगा ना
तू खुद ही है नायक
तो शुरू करें क्या

बातें बहुत हुईं
काम शुरू करें क्या
कल क्या करेगा
आज शुरू करें क्या
ये देश अपने हाथ
कुछ बातों से होगा ना
तू खुद ही है नायक
तो शुरू करें क्या

शुरुआत से ही सीखते ग़लत हैं
गरम है हम सब पे
पर ख़ुद में जो दम है वो कम है क्या
तेरे अन्दर की ज़मीर आज नम है क्या
दूसरों पे भौंके
तुझे ख़ुद पे शरम है क्या
गरीबों पे अत्याचार
बच्चियों का बलात्कार
ना रुकेगा ना तो
ना होगा ऐसा कोई चमत्कार
उंगली उठाते पर आवाज़ तो उठाओ
नोट सब छापे साले इज्ज़त कमाओ
बत्ती तुम जलाते खाली कदम बढ़ाते
अपने अन्दर के अँधेरे में वो बत्ती को जलाओ

आफ़ताब सी उड़ान क्यूँ
समाज बना चिलमन सा
लूटकर कर जो लथपथ
तू पूछता है जात उनका
तरकश में मज़हब
ये जब तक तराज़ू के
पीढ़ी की मौत होगी घर्षण करे शंका
हाँ, ऐनक अवाम का है साफ नहीं
देवी हाँ सड़कों पे डर के क्यूँ काँप रही
साँप बनी छाती पे दहशत धरम की
तू खुद है मसीहा ये आँखें क्यूँ नम सी
साँप बनी छाती पे दहशत धरम की
तू खुद है मसीहा ये आँखें क्यूँ नम सी

बातें बहुत हुईं
काम शुरू करें क्या
कल क्या करेगा
आज शुरू करें क्या
ये देश अपने हाथ
कुछ बातों से होगा ना
तू खुद ही है नायक
तो शुरू करें क्या

बातें बहुत हुईं
काम शुरू करें क्या
कल क्या करेगा
आज शुरू करें क्या
ये देश अपने हाथ
कुछ बातों से होगा ना
तू खुद ही है नायक
तो शुरू करें क्या

भाई मुसलमान का तो
काय को लड़ते जात पे
इंसानियत है गुमशुदा
और साइको हम हालात से
और अपने लोगों को तो चाहिए जाति का वार
हाथी का दाँत
तू बोल मुझको किधर गायब इंसाफ
तभी मिलेगा जभी तू
अपने हक को बोलना शुरू करेगा
सच को खोलना सब के बारे में सोचना
अब तू नहीं डरेगा
अमीर के थाली में रोटी है चार
फ़कीर को नहीं है मिला प्रसाद
सब ठीक है तेरा तो बढ़ा व्यापार
कमज़ोर पे ऐसे ना डाल दबाव

चलो शुरू से शुरू करें हाल क्यूँ बेहाल है
ऐसे तो आज़ादी को हुए सत्तर साल हैं
हम आज़ाद ना फिर भी
कभी सुनते ना ख़ुद की
घर बैठे सोचेंगे मसले की तरकीब
कदम ले आगे तो पीछे ये खींचे
तू ज़्यादा सच उगले तो धरती के नीचे
अब नीचे ही रहना
हिम्मत से सहना
वो मारे वो पीटे
तू कुछ भी ना कहना
हर जाति से छोटी यहाँ औरत की जात
देदे जीवन की डोर किसी और के हाथ
यहाँ प्राण जाए पर मान ना जाए
दौलत की लालच हड़पती दुआएँ

बातें बहुत हुईं
काम शुरू करें क्या
कल क्या करेगा
आज शुरू करें क्या
ये देश अपने हाथ
कुछ बातों से होगा ना
तू खुद ही है नायक
तो शुरू करें क्या

बातें बहुत हुईं
काम शुरू करें क्या
कल क्या करेगा
आज शुरू करें क्या
ये देश अपने हाथ
कुछ बातों से होगा ना
तू खुद ही है नायक
तो शुरू करें क्या

बातें बहुत हुईं
काम शुरू करें क्या
कल क्या करेगा
आज शुरू करें क्या
ये देश अपने हाथ
कुछ बातों से होगा ना
तू खुद ही है नायक
तो शुरू करें क्या

बातें बहुत हुईं
काम शुरू करें क्या
कल क्या करेगा
आज शुरू करें क्या
ये देश अपने हाथ
कुछ बातों से होगा ना
तू खुद ही है नायक
तो शुरू करें क्या

 

Shuru Karein Kya Lyrics In English

Baatein bahut hui
Kaam shuru karein kya
Kal kya karega
Aaj shuru karein kya
Yeh desh apne haath
Kuch baaton se hoga na
Tu khud hi hai naayak
Toh shuru karein kya

Baatein bahut hui
Kaam shuru karein kya
Kal kya karega
Aaj shuru karein kya
Yeh desh apne haath
Kuch baaton se hoga na
Tu khud hi hai naayak
Toh shuru karein kya

Shuruaat se hi seekhte ghalat hai
Garam hai hum sab pe
Par khud mein jo dum hai woh kum hai kya
Tere andar ki zameen aaj num hai kya
Doosron pe bhonkhe
Tujhe khud pe sharam hai kya
Gareebon pe atyachaar
Bachchiyon ka balaatkaar
Naa rokega naa toh
Na hoga aisa koi chamatkaar
Ungli uthaate par awaaz toh uthaao
Note sab chaape saale izzat kamaao
Batti tum jalaate khali kadam badhate
Apne andar ke andhere mein woh batti ko jalaao

Aaftaab si udaan kyun
Samaaj bana chilman sa
Lutkar jo lathpath
Tu puchhta hai jaat unka
Tarkash mein mazhab
Ye jab tak tarazu ke
Peedhhi ki maut hogi gharshan kare shanka
Haan, ainak avaam ka hai saaf nahi
Devi haan sadko pe darke kyu kaanp rahi
Saanp bani chhati pe dehshat dharam ki
Tu khud hai masiha ye ankhe kyu nam si
Saanp bani chhati pe dehshat dharam ki
Tu khud hai masiha ye ankhe kyu nam si

Baatein bahut hui
Kaam shuru karein kya
Kal kya karega
Aaj shuru karein kya
Yeh desh apne haath
Kuch baaton se hoga na
Tu khud hi hai naayak
Toh shuru karein kya

Baatein bahut hui
Kaam shuru karein kya
Kal kya karega
Aaj shuru karein kya
Yeh desh apne haath
Kuch baaton se hoga na
Tu khud hi hai naayak
Toh shuru karein kya

Bhai musalman ka toh
Kaai ko ladte jaat pe
Insaaniyat hai gumshuda
Aur psycho hum halaat se
Aur apne logo ko toh chahiye jaati ka vaar
Haathi ka daant
Tu bol mujhko kidhar gayab insaaf
Tabhi to milega jabhi tu
Apne haq ko bolna shuru karega
Sach ko kholna sab ke baare mein sochna
Ab tu nahi darega
Ameer ke thaali mein roti hai chaar
Fakeer nahi hai mila prasaad
Sab theek hai tera toh badha vyapaar
Kamzor pe aise na daal dabaav

Chalo shuru se karein haal kyun behaal hai
Aise toh azaadi ko huve sattar saal hain
Hum azaad na phir bhi
Kabhi sunte na khud ki
Ghar baithe sochenge masle ki tarqeeb
Kadam le aage toh peeche ye kheenche
Tu zyada sach ugle toh dharti ke neeche
Ab neeche hi rehna
Himmat se sehna
Woh maare wo peete
Tu kuch bhi na kehna
Har jaati se choti yahaan aurat ki jaat
Dede jeevan ki dor kisi aur ke haath
Yahan praan jaaye par maan na jaaye
Dulat ki laalach hadapti duaayein

Baatein bahut hui
Kaam shuru karein kya
Kal kya karega
Aaj shuru karein kya
Yeh desh apne haath
Kuch baaton se hoga na
Tu khud hi hai naayak
Toh shuru karein kya

Baatein bahut hui
Kaam shuru karein kya
Kal kya karega
Aaj shuru karein kya
Yeh desh apne haath
Kuch baaton se hoga na
Tu khud hi hai naayak
Toh shuru karein kya

Baatein bahut hui
Kaam shuru karein kya
Kal kya karega
Aaj shuru karein kya
Yeh desh apne haath
Kuch baaton se hoga na
Tu khud hi hai naayak
Toh shuru karein kya

Baatein bahut hui
Kaam shuru karein kya
Kal kya karega
Aaj shuru karein kya
Yeh desh apne haath
Kuch baaton se hoga na
Tu khud hi hai naayak
Toh shuru karein kya

 

END

MORE SONG FOR YOU

OH SANAM LYRICS
CHHOR DENGE LYRICS
CHALO LE TUMHE LYRICS
TUMHE DUNIYA HUMSE LYRICS

VIDEO :-शुरू करें क्या Shuru Karein Kya Lyrics In Hindi 

Leave a comment

%d bloggers like this: