ज़रूरी था Zaroori Tha Lyrics In Hindi – Rahat Fateh Ali Khan

ज़रूरी था Zaroori Tha Lyrics In Hindi Sung by Rahat Fateh Ali Khan. Zaroori Tha Lyrics In English is written by Khalil-Ur-Rehman Qamar. Zaroori Tha Lyrics music composed by Sahir Ali Bagga.

Song Details

Song Zaroori Tha
Singer Rahat Fateh Ali Khan
Lyrics Khalil-Ur-Rehman Qamar
Compooser Sahir Ali Bagga

START

Zaroori Tha Lyrics In Hindi

लफ्ज़ कितने ही तेरे पैरों से लिपटे होंगे
तूने जब आख़िरी खत मेरा जलाया होगा
तूने जब फूल किताबों से निकाले होंगे
देने वाला भी तुझे याद तो आया होगातेरी आँखों के दरिया का
उतरना भी ज़रूरी था
मोहब्बत भी ज़रूरी थी
बिछड़ना भी ज़रूरी था
ज़रूरी था की हम दोनों
तवाफ़े आरज़ू करते
मगर फिर आरज़ूओं का
बिखरना भी ज़रूरी था
तेरी आँखों के दरिया का
उतरना भी ज़रूरी था

बताओ याद है तुमको
वो जब दिल को चुराया था
चुराई चीज़ को तुमने
ख़ुदा का घर बनाया था

वो जब कहते थे
मेरा नाम तुम तस्बीह में पढ़ते हो
मोहब्बत की नमाज़ों को
कज़ा करने से डरते हो
मगर अब याद आता है
वो बातें थी महज़ बातें
कहीं बातों ही बातों में
मुकरना भी ज़रूरी था
तेरी आँखों के दरिया का
उतरना भी ज़रूरी था

वही हैं सूरतें अपनी
वही मैं हूँ, वही तुम हो
मगर खोया हुआ हूँ मैं
मगर तुम भी कहीं गुम हो
मोहब्बत में दग़ा की थी
सो काफ़िर थे सो काफ़िर हैं
मिली हैं मंज़िलें फिर भी
मुसाफिर थे मुसाफिर हैं
तेरे दिल के निकाले हम
कहाँ भटके कहाँ पहुंचे
मगर भटके तो याद आया
भटकना भी ज़रूरी था

मोहब्बत भी ज़रूरी थी
बिछड़ना भी ज़रूरी था
ज़रूरी था की हम दोनों
तवाफ़े आरज़ू करते
मगर फिर आरज़ूओं का
बिखरना भी ज़रूरी था
तेरी आँखों के दरिया का
उतरना भी ज़रूरी था

Zaroori Tha Lyrics In English

laphz kitane hee tere pairon se lipate honge
toone jab aakhiree khat mera jalaaya hoga
toone jab phool kitaabon se nikaale honge
dene vaala bhee tujhe yaad to aaya hogaateree aankhon ke dariya ka
utarana bhee zaroori tha
mohabbat bhee zaroori thee
bichhadana bhee zaroori tha
zaroori tha kee ham donon
tavaafe aarazoo karate
magar phir aarazooon ka
bikharana bhee zaroori tha
teree aankhon ke dariya ka
utarana bhee zaroori tha

batao yaad hai tumako
vo jab dil ko churaaya tha
churaee cheez ko tumane
khuda ka ghar banaaya tha

vo jab kahate the
mera naam tum tasbeeh mein padhate ho
mohabbat kee namaazon ko
kaza karane se darate ho
magar ab yaad aata hai
vo baaten thee mahaz baaten
kaheen baaton hee baaton mein
mukarana bhee zaroori tha
teree aankhon ke dariya ka
utarana bhee zaroori tha

vahee hain sooraten apanee
vahee main hoon, vahee tum ho
magar khoya hua hoon main
magar tum bhee kaheen gum ho
mohabbat mein daga kee thee
so kaafir the so kaafir hain
milee hain manzilen phir bhee
musaaphir the musaaphir hain
tere dil ke nikaale ham
kahaan bhatake kahaan pahunche
magar bhatake to yaad aaya
bhatakana bhee zaroori tha

mohabbat bhee zaroori thee
bichhadana bhee zaroori tha
zaroori tha kee ham donon
tavaafe aarazoo karate
magar phir aarazooon ka
bikharana bhee zaroori tha
teree aankhon ke dariya ka
utarana bhee zaroori tha

END

MORE SONG FOR YOU

MUSAFIR LYRICS
TOH AAGAYE HUM LYRICS
REH GAYE KAHAN LYRICS
WOH DIN LYRICS

VIDEO :- ज़रूरी था Zaroori Tha Lyrics In Hindi

Leave a comment

%d bloggers like this: